- Sponsored -

- Sponsored -

कोरोना व् अन्य बिमारियों से बचे रहने के लिए जरूरी सलाह जरूर पढ़ें

अभी सावधानी ज्यादा जरूरी है ऐसे में हम कृषि वाणी आपको बताने जा रहे

826


दोस्तों आपलोग कोरोना वायरस से बचने के लिए कई तरह के सावधानियां तो जरूर बरत रहे होंगे और सबसे ज्यादाप्रकोप तो अभी के समय में चल रहा है जिससे अभी सावधानी ज्यादा जरूरी है ऐसे में हम कृषि वाणी आपको बताने जा रहे हैं कि आप अपने नियमित दिनचर्या में कुछ खास ध्यान के साथ खान पान में सावधानी रखें तो आप इससे सुरक्षित रह सकते हैं और अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत रख सकते हैं

1 पर्याप्त मात्रा में जल
जल यह प्राकृतिक औषधि है। प्रचुर मात्रा में शुद्ध जल के सेवन से शरीर में जमा कई तरह के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और शरीर कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। पानी या तो सामान्य तापमान पर हो या फिर थोड़ा गुनगुना फ्रिज के ठंडे पानी के प्रयोग से बचें।
.
2 मौसम अनुसार रसदार फल
दोस्तों हर मौसम के फल का सेवन करते रहना चाहते है संतरा, मौसमी आदि रसदार फलों में भरपूर मात्रा में खनिज लवण तथा विटामिन सी होता है। मौसम के अनुसार सभी फलों के सेवन से शरीर कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में ये महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आप चाहें तो पूरे फल खाएँ और चाहें तो इनका रस निकालकर सेवन करें। हां,इस बात का जरूर ध्यान रखें रस में शकर या नमक न मिलाएं।
.
3 अंकुरित अनाज का सेवन
खाने में अंकुरित अनाज (जैसे मूंग, मोठ, चना आदि) तथा भीगी हुई दालों का भरपूर मात्रा में सेवन करें। अनाज को अंकुरित करने से उनमें उपस्थित पोषक तत्वों की क्षमता बढ़ जाती है। ये पचाने में आसान, पौष्टिक और स्वादिष्ट होते हैं।इसका सुबह में सेवन करने से शरीर में प्रचुर मात्रा में विटामिन और पोषक तत्व कि पूर्ति हो जाती है
.
4 हरी सलाद
खाने में सलाद का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें। भोजन अच्छे से पचने के लिए सलाद का सेवन जरूरी होता है। ककड़ी, टमाटर, मूली, गाजर, पत्तागोभी, प्याज, चुकंदर आदि को सलाद में शामिल करें। इनमें प्राकृतिक रूप से मौजूद नमक हमारे लिए पर्याप्त होता है। आप हमेशा हरी सलाद का सेवन करते हैं तो कई प्रकार के बीमारिया आपसे ऐसे ही दूर रहेंगे
.
5 चोकर जैसे मोठे अनाज
आज के समय में खाने में रोटी के आटे में गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का जैसे अनाज का सेवन चोकर सहित करें। इससे कब्ज नहीं होगी तथा प्रतिरोध क्षमता चुस्त-दुरुस्त रहेगी।आज के दौर में पुराने समय के खाने के niyamon का पालन अब सिर्फ गांव में ही देखने को मिलता है
.
6 तुलसी के पत्तों का सेवन
दोस्तों तुलसी का धार्मिक महत्व अपनी जगह है मगर इसके साथ ही यह एंटीबायोटिक, दर्द निवारक और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी फायदेमंद है। रोज सुबह तुलसी के 3-5 पत्तों का सेवन करेंध्यान रहे इसके पत्तों को चबाया नहीं जाता इसके रस को चूसा जाता है ।इससे कई प्रकार कि बिमारियों का निवारण स्वतः हो जाएगा
.
7 नियमित दिनचर्या में योग
दोस्तों आज के समय में योग व प्राणायाम शरीर को स्वस्थ और रोगमुक्त रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।आप किसी जानकार से इन्हें सीखकर प्रतिदिन घर पर इनका अभ्यास करते रहे तो आप कई शरीर में होने वाली बिमारियों से दूर रहेंगे
.
हर दिन खुल कर हंसना जरूरी है
दोस्तों आप प्रति दिन खुल कर हँसे जिससे शरीर का रक्त संचार सुचारु चलता रहे और हमारा शरीर अधिक मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण करता है। तनावमुक्त होकर हँसने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने में मदद मिलती है।साथ ही मन प्रसन्न रहता है जिससे कोई भी अपना कार्य अच्छे से करने के लिए तैयार रहते हैं

तो दोस्तों कुछ ख़ास जानकारियां थी जिसका ख्याल रखने से आप आज के समय में खुद को सुरक्षित रख सकते हैं आप इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें जिससे वो भी खुद को कई बिमारियों से सुरक्षित रख सकें

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.