- Sponsored -

- Sponsored -

कृषि योजनाएं भी जोड़ी गई स्टैंडअप इंडिया के अंतर्गत

स्टैंडअप इंडिया योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में कई योजनाएं चलाई जा रही है

0 369

कृषि के क्षेत्रों में उधम स्थापित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही है ऐसे में स्टैंडअप इंडिया योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में कई योजनाएं चलाई जा रही है और मुख्य रूप से इस योजना का उद्देश्य अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों की प्रत्येक शाखा से कम से कम एक अनुसूचित जाति के उधारकर्ता या अनुसूचित जनजाति के उधारकर्ता तथा एक महिला उधारकर्ता को 10 लाख रूपए से एक करोड़ रुपए के बीच ऋण सहायता प्रदान करना है ताकि मैन्युफैक्चरिंग, सेवा तथा व्यापार क्षेत्र में ग्रीनफील्ड उद्यम स्थापित किया जा सके।

यह जानकारी राज्यसभा में वित्त और कॉरपोरेट कार्य राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में दी।वित्त राज्यमंत्री ने और अधिक ब्यौरा देते हुए बताया कि 2 मार्च, 2021 तक स्टैंडअप इंडिया योजना के अंतर्गत प्रारंभ से 24,985.27 करोड़ रुपए के 1,11,619 ऋणों का विस्तार किया गया है।

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए वित्त मंत्री के बजट भाषण में की गई घोषणा के अनुसार इसके अंतर्गत ऋण के लिए आवश्यक मार्जिन राशि 25 प्रतिशत तक से घटाकर 15 प्रतिशत तक कर दी गई है और योजना में कृषि से संबंधित गतिविधियों को शामिल किया गया है।

- Sponsored -

उन्होंने बताया कि योजना को कारगर तरीके से लागू करने के लिए सरकार ने विभिन्न कदम उठाए हैं। इन कदमों में अन्य बातों के साथ-साथ संभावित उधारकर्ता द्वारा ऑनलाइन पोर्टल (www.standupmitra.in)के माध्यम से ऑनलाइन आवेदनों की प्रस्तुति, हैंड होल्डिंग समर्थन, तीव्र प्रचार अभियान, सरल ऋण आवेदन फॉर्म, ऋण गारंटी योजना और समर्पित साप्ताहिक कार्यक्रमों के माध्यम से लक्ष्य समूह के लिए अभियान शामिल हैं।

इन योजनाओं में मुख्य रूप से महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने का प्रयास किया जा रहा है साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी रोजगार सृजित होंगे

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.